Fast Newz 24


Bharat Atta-Rice: अब रेलवे स्टेशनों पर खुलेंगे स्टोर, सस्ता मिलेगा आटा और चावल


आटा-चावल बिक्री के दौरान सर्कुलेटिंग एरिया में यात्रियों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो तथा भीड़-भाड़ नहीं लगे, इसका भी ध्यान रखने को कहा है। प्रति स्टेशन केवल एक मोबाइल वैन की ही अनुमति मिलेगी।

 
 अब रेलवे स्टेशनों पर खुलेंगे स्टोर, सस्ता मिलेगा आटा और चावल

Fast News24:  यात्रियों व रेल कर्मियों की सुविधा के लिए मुजफ्फरपुर जंक्शन के सर्कुलेटिंग एरिया सहित पूर्व मध्य रेल के महत्वपूर्ण स्टेशनों पर रियायती दर पर आटा और चावल की बिक्री होगी। रेल मंत्रालय से सहमति मिलने के बाद रेलवे बोर्ड के कार्यकारी निदेशक, यात्री विपणन, नीरज शर्मा ने पूर्व मध्य रेल सहित देश के सभी क्षेत्रीय रेलवे जोन के महाप्रबंधक को पत्र भेजा है।

पत्र आने के बाद इसमें रेल अधिकारी जुट गए हैं। निदेशक के अनुसार, 27 रुपये 50 पैसे में भारत आटा और 29 रुपये किलो चावल की बिक्री होगी। खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग, भारत सरकार की योजना के तहत मोबाइल वैन के माध्यम से भारत आटा और भारत चावल की वेंडिंग होगी। उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय से 26 फरवरी को करार हुआ है।

बता दें कि बाजार में अभी 30 रुपये से लेकर 35 रुपये किलो तक आटा और 30 रुपये से लेकर ढाई सौ रुपये प्रति किलो तक चावल की बिक्री हो रही है। जंक्शन पर यह सेवा शुरू होने से यात्रियों को रियायत दर पर आटा और चावल मिलेंगे। रेलवे ने भारत आटा और चावल की बिक्री के लिए मोबाइल वैन लगाने की अनुमति प्रदान की है। गुणवत्ता आदि सहित सेवा में किसी प्रकार की कमी के लिए रेलवे उत्तरदायी नहीं होगा।

शाम को दो घंटे ही मोबाइल वैन लगाने का आदेश-

रेलवे बोर्ड के अनुसार शाम के समय केवल दो घंटे ही रेलवे स्टेशनों के सर्कुलेटिंग क्षेत्र में भारत आटा व भारत चावल बिक्री करने की अनुमति दी जाएगी। यह योजना तीन महीने के लिए पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की जाएगी। रेलवे ने संयुक्त सचिव, खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग, उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय को प्रतिलिपि दी गई है। इसकी बिक्री को लेकर कोई लाइसेंस शुल्क या राजस्व हिस्सेदारी नहीं ली जाएगी। मोबाइल वैन अनधिकृत रूप से स्टेशन परिसर में पार्क नहीं की जाएगी।

नोडल अधिकारी होंगे पूर्व मध्य रेल के पीसीसीएम-

भारत आटा व चावल की बिक्री के लिए नोडल अधिकारी पूर्व मध्य मध्य रेल के प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबंधक होंगे। खाद्य और सार्वजनिक वितरण कार्यान्वयन एजेंसी, इकाई के नाम के साथ मोबाइल वैन आपरेटरों या संबंधित व्यक्ति के मोबाइल नंबर के साथ स्टेशनों की सूची प्रदान करेंगे। तीन महीने की अवधि के दौरान एजेंसी में कोई बदलाव नहीं होगा। स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में मोबाइल वैन लगाने की व्यावहारिकता और स्थान की जांच डीआरएम की मंजूरी से डिवीजनों द्वारा की जाएगी।