Fast Newz 24

DA HIKE: कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज, 8वें वेतन आयोग को लेकर अपडेट


दिल्ली में कर्मचारियों और पेंशनर्स ने 8वें वेतन आयोग की मांग की है। सरकारी कर्मचारी एक महीने में लगातार दूसरी बार अगले वेतन आयोग की स्थिति को स्पष्ट करने की मांग कर रहे हैं। 
 
S

Fast News24:  अगले साल, केंद्रीय कर्मचारियों को अच्छी खबर मिल सकती है। केंद्रीय सरकार उन्हें बहुत अच्छी खबर दे सकती है। खुशखबरी यह है कि पे-कमीशन है। सूत्रों के अनुसार, सातवें वेतन आयोग (7वें वेतन आयोग) के बाद आठवां वेतन आयोग आ सकता है। सरकार ने इस पर कोई औपचारिक घोषणा नहीं की है। सूत्रों के अनुसार, नए वेतन आयोग की स्थापना को लेकर बहस शुरू हो चुकी है।

8th Pay Commission की तैयारी जारी है
केंद्रीय कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी में बड़ा इजाफा हो सकता है अगर सरकार इस पर सहमत होती है। ८वां वेतन आयोग अभी तक चर्चा में था। लेकिन उम्मीद है कि अगले वेतन आयोग की योजना बनाई जा रही है। सरकार ने इसकी कोई पुष्टि नहीं की है। सरकारी सूत्रों ने बताया कि सरकार इस पर ध्यान दे रही है।

2024 में आम चुनाव होने की उम्मीद है, सूत्र बताते हैं। यही कारण है कि कर्मचारियों के लिए एक नया वेतन आयोग बनाने पर चर्चा की जा सकती है। 8वें वेतन आयोग (8वें वेतन आयोग) लागू होने पर कर्मचारियों को बहुत फायदा हो सकता है। सरकार का कहना है कि पे कमीशन के लिए किसी पैनल की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए। बल्कि, सैलरी रिविजन के लिए पे-कमीशन के भीतर एक नवीनतम प्रणाली होनी चाहिए। इस पर अभी विचार किया जा रहा है।

8th Pay Commission कब आ सकता है?

सूत्रों के अनुसार, आठवें वेतन आयोग (Eighth Pay Commission) का गठन 2024 में होना चाहिए। वहीं, इसे लगभग एक वर्ष में लागू किया जा सकता है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि ऐसा होने पर केंद्रीय सरकारी कर्मचारियों की सैलरी में भारी वृद्धि होगी। 8वें वेतन आयोग (7th Pay Commission) से अलग, कई बदलाव हो सकते हैं। फिटमेंट फैक्टर भी बदलाव कर सकता है। बता दें कि अभी तक सरकार हर दस वर्ष में एक बार वेतन आयोग बनाती है।

कितनी कमाई होगी?

8वें वेतन आयोग, 7वें वेतन आयोग से अलग होगा। यदि सब कुछ ठीक चलता है, तो कर्मचारियों की सैलरी में सबसे बड़ा उछाल देखना चाहिए। कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर 3.68 बार बढ़ जाएगा। जो भी फॉर्मूला हो, कर्मचारियों की बेसिक सैलरी (Basic Salary) 44.44% बढ़ सकती है। इसलिए, यह कर्मचारियों को खुश करने वाली खबर थी।