Fast Newz 24

PM Surya Yojana: बिजली बिलों से मिलेगा छुटकारा, इस स्कीम में करें आवेदन


सरकार के द्वारा PM सूर्य घर योजना चलाई हुई है इस योजना का सीधा लाभ लोगों को मिल रहा है. 
 
बिजली बिलों से मिलेगा छुटकारा, इस स्कीम में करें आवेदन

Fast News24: अगर आप भी हर  महीने भारी भरकम बिजली बिल (Bijli Bill ) भरने से परेशान है तो आपके लिए अच्छी खबर है। पीएम सूर्य घर योजना के तहत आवेदन करके आप बिजली बिल से झंझट से छुटकारा पा सकते हैं। 

बता दें कि पीएम सूर्य घर योजना के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरु हो गई है। इस स्कीम के तहत डाक विभाग  ने अब तक जिले में 2500 लोगों का रजिस्ट्रेशन किया है।

अगर आप भी बिजली बिल से छुटकारा पाना चाहते हैं तो इस स्कीम के तहत रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको ज्यादा भागदौड़ की भी जरुरत नहीं है। जिले के सभी डाकघरों में रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है।

 इसके अलावा डाकिया बुलावे पर घर-घर जाकर भी रजिस्ट्रेशन कर रहे हैं। अधिक से अधिक लोगों को योजना से जोड़ने की कोशिश की जा रही है।

बिजली पर निर्भरता होगी कम

डाक अधीक्षक बीके दुबे ने बताया कि पीएम मुफ्त सूर्यघर योजना में अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने के लिये डाक विभाग ने अभियान चलाया है। जिसमे अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन करने का लक्ष्य रखा गया है।

इस योजना में रजिस्ट्रेशन कराने वाले लोगो को सोलर पैनल और बैटरी अनुदान पर दिया जायेगा, जिससे लोगों को बिजली पर निर्भरता समाप्त होगी। घर के सारे बिजली उपकरण सोलर पैनल और बैटरी से चलेंगे और बिल भी नही देना होगा।

कैंप लगाकर भी किया जाएगा रजिस्ट्रेशन

गांव में कोई जनप्रतिनिधि लोगों को इकट्ठा करके डाक अधीक्षक को जानकारी देंगे तो वहां डाकिया को भेजकर एक जगह पर ही सभी लोगों का रजिस्ट्रेशन कर दिया जाएगा। ऐसे में लोगों को एक ही जगह पर इस योजना से संबंधित पूरी जानकारी मिल सकेगी। 

पीएम सूर्य घर योजना के रजिस्ट्रेशन के लिए लोग स्थानीय डाकिया को फोन करके भी बुला सकते हैं।

पीएम सूर्य घर योजना के रजिस्ट्रेशन के लिए अरवल डाकघर में अलग काउंटर बनाये गये हैं। सभी शाखा डाकघरों में भी निशुल्क रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है।

सुबह आठ बजे से शाम सात बजे तक रजिस्ट्रेशन का कार्य किया जा रहा है, जहां उपभोक्ताओं के लिए अपना बिजली विपत्र व मोबाइल नम्बर देना आवश्यक है।

रजिस्ट्रेशन के बाद खपत के अनुसार सोलर प्लेट सेट उपलब्ध कराने के लिए अग्रतर कार्रवाई की जाएगी। एक किलोवाट का प्लेट लेने पर लगभग 60 हजार का खर्च होगा।