Fast Newz 24

Property Knowledge: प्रोपर्टी खरीदने से पहले जान लें ये बातें, नहीं होगा नुकसान

यदि प्रोपर्टी को लेते समय आपको लगता है कि बिल्डर ने अपना वादा नहीं निभाया है या आपको उस अनुसार घर बनाकर नहीं दिया जैसा उसने प्रॉमिस किया था तो आपके पास हर मुश्किल का अचूक समाधान है रेरा (RERA). 

 
प्रोपर्टी खरीदने से पहले जान लें ये बातें, नहीं होगा नुकसान

Fast News24:  घर खरीदना या फिर बनाना एक व्यक्ति की उम्र भर की पूंजी होती है। ऐसे में हर चीज सही होना बेहद जरूरी है कयोंकि एक गलती से आपकी उम्र भर की कमाई बर्बाद हो सकती है। अगर आप या आपकी पहचान का कोई व्यक्ति बिल्डर से फ्लैट लेकर फंस गया है. यानी वह बिल्डर के धोखे में आकर अपना घर खो चुका है. 

या बिल्डर ने अपने किए वादे अनुसार आपको घर बनाकर नहीं दिया तो अब आपको परेशान होने की जरूरत (Property Knowledge) नहीं है. अक्सर देखा जाता है कि बिल्डर आपको घर बेचते समय बड़े बड़े वादे तो करते हैं, लेकिन जब आपको उस घर का पोजेशन मिलता है तो उसकी हालात देखकर आपके हाथ निराशा ही लगती है.

फिर ऐसी स्थिति में आप सोचने लगते है कि अब बिल्डर के खिलाफ क्या किया जा सकता है, लेकिन क्या आपको पता है कि पोजेशन मिलने के बाद भी आप बिल्डर की शिकायत (builder's complaint to RERA) कर सकते है. बता दें कि घर या फ्लैट खरीदने से पहले कई सावधानियां बरतनी जरूरी हैं. बिल्डर कहीं कोई हिडन या एडिशनल चार्ज तो नहीं कर रहा? सुपर एरिया के नाम पर आपको उल्लू तो नहीं बना रहा? अगर बिल्डर सुपर एरिया के नाम पर आपसे रकम वसूले तो क्या करें?

जानिए कहां करें अपनी शिकायत

इसके लिए आपको रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी (RERA) में शिकायत देनी होगी. साल 2016 में रियल एस्टेट में मौजूदा विसंगतियों को खत्म करने के लिए रियल एस्टेट (real estate) (विनियमन और विकास) अधिनियम, 2016 बनाया गया. इस अधिनियम के प्रावधान आपको पैसा वापस दिलाने व आपका हक दिलाने में बहुत काम आते हैं.

कब्‍जा न मिलने पर खटखटा सकते है RERA का दरवाजा

अगर आपको जानकारी नही है तो हम आपको बता दें कि घर खरीदारों को रेरा (RERA) घर का कब्जा दिलाने में भी मदद करता है. घर खरीदार अपने सेल्स एग्रीमेंट के मुताबिक किसी प्लॉट, अपार्टमेंट या कॉमन एरिया पर अधिकार दिलाने के लिए रेरा के पास जा सकता है. इसके अलावा कब्‍जा मिलने के पांच साल तक प्रॉपर्टी में किसी तरह का स्ट्रक्चरल डिफेक्ट आ जाती है तो बिल्डर को बिना किसी अतिरिक्‍त शुल्‍क के 30 दिनों में इसे ठीक करना होता है.

सुपर बिल्ड अप एरिया के नाम पर आपसे नहीं वसूल सकते है पैसे

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बिल्डर के लिए अनिवार्य है कि वे फ्लैट या अपार्टमेंट का साइज कारपेट एरिया के आधार पर बताएं. यानी कीमत भी कारपेट एरिया से तय होगी न कि बिल्ड अप या सुपर बिल्ड अप एरिया (Build up or super build up area) से. अगर बिल्‍डर ऐसा नहीं करत है तो भी घर खरीदार रेरा का दरवाजा खटखटा सकता है.ऐसे करें शिकायत

– ऑनलाइन शिकायत करने के लिए रेरा की वेबसाइट जाएं.
– लॉग इन करने के बाद शिकायत के ऑप्शन में जाकर अपनी कंप्लेंट और एग्रीमेंट पेपर की PDF बनाकर अपलोड करनी होगी.
– रेरा अथॉरिटी आपके शिकायत की जांच करेगी.
– यह साबित होने पर कि बिल्डर द्वारा एग्रीमेंट की शर्तों का उल्लंघन किया गया है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
– रेरा में शिकायत दर्ज करने के लिए खरीदर को नाम मात्र का शुल्क देना पड़ता है.
– यह हर राज्य में अलग अलग है. आमतौर पर रेरा में शिकायत के लिए दो से ढाई हजार रुपये की फीस देनी होती है.
– घर खरीदते समय बिल्डर से किसी प्रकार का मौखिक एग्रीमेंट न करें.
– ताकि भविष्य में जब बिल्डर बात से मुकर जाए तब आप रेरा में सबूत पेश कर सकें.