Fast Newz 24

RBI ने इन बैंकों पर लगाया करोड़ों का जुर्माना, ग्राहकों पर पड़ेगा ये असर


आरबीआई ने नियमों का पालन न करने पर बैंकों पर करोडो़ं का जुर्माना लगाया है. तो चलिए जानते हैं विस्तार से...

 
RBI ने इन बैंकों पर लगाया करोड़ों का जुर्माना, ग्राहकों पर पड़ेगा ये असर

Fast News24:  RBI Penalty on Banks-भारत का केंद्रीय बैंक (RBI) एक बार फिर बैंकों पर सख्त हो गया है. भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) देश के सभी बैंकों की कार्यप्रणली पर निगरानी करता है। यह सुनिश्चित करता है कि कौन सा बैंक नियमों का सही से पालन कर रहा है या नहीं? 

अब आरबीआई ने एडवांस इंट्रस्ट रेट से संबधित कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने की वजह से डीसीबी बैंक (dcb bank) और तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक (Tamilnad Mercantile Bank) पर जुर्माना लगा दिया है. 

भारातीय रिजर्व बैंक की तरफ से बयान जारी कर इस बारे में बताया गया है. आरबीआई ने डीसीबी बैंक पर 63.6 लाख रुपये का जुर्माना (DCB Bank fined Rs 63.6 lakh) लगाया है. इसके अलावा तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक पर 1.31 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. 

केंद्रीय बैंक ने जारी किया बयान

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एक अलग बयान में केंद्रीय बैंक ने बताया कि तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक पर ‘अग्रिम पर ब्याज दर’ और 'बड़े क्रेडिट पर सूचना के केंद्रीय भंडार' (CRILC) रिपोर्टिंग में संशोधन' पर जारी कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने के लिए 1.31 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

नियमों का उललंघन करने पर लगा जुर्माना

बता दें कि दोनों मामलों में, रिजर्व बैंक ने कहा कि जुर्माना नियामकीय अनुपालन में कमियों पर आधारित था. इसी वजह से आरबीआई ने यह एक्शन लिया है. आरबीआई का उद्देश्य है कि बैंक ग्राहकों (bank customers) के साथ किए गए किसी भी लेनदेन या समझौते की वैधता को प्रभावित करना नहीं है.

इन बैंकों पर भी लगाया था जुर्माना

बता दें कि हाल ही में रिजर्व बैंक ने बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India) और बंधन बैंक (Bandhan Bank) पर जुर्माना लगा दिया था. आरबीआई ने बैंक ऑफ इंडिया पर 1.4 करोड़ रुपये का जुर्माना (RBI Penalty on Banks) लगाया था. इसके अलावा रिजर्व बैंक ने कुछ निर्देशों का अनुपालन नहीं करने के लिए प्राइवेट सेक्टर के बंधन बैंक पर भी 29.55 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था. 

भारत के केंद्रीय बैंक (central bank) ने बैंक ऑफ इंडिया पर जुर्माना 'जमा पर ब्याज दर', 'बैंकों में ग्राहक सेवा', 'कर्ज पर ब्याज दर' और क्रेडिट सूचना कंपनी नियम, 2006 के प्रावधानों के उल्लंघन से संबंधित रिजर्व बैंक के निर्देशों का पालन नहीं करने के लिए लगाया गया था.