Fast Newz 24

rule Change from 1 April : 1 अप्रैल से बदल जायेंगे बैंक डिफ़ॉल्टर के नियम, लोनधारक को मिलेगी राहत

1 अप्रैल से बैंक के डिफाल्टर के नियमों में बदलाव होने जा रहा है.  तो चलिए जानते हैं कि लोन लेने वाले को क्या राहत मिलने वाली है. 
 
 1 अप्रैल से बदल जायेंगे बैंक डिफ़ॉल्टर के नियम, लोनधारक को मिलेगी राहत

Fast News24:   जब कोई शख्श बैंक (bank news) से लोन लेने के बाद उसे चुकता करने में असमर्थ हो जाता हैए तो बैंक उस शख्श को डिफ़ॉल्ट घोषित कर देता है और ऐसा होने के बाद उसका क्रेडिट स्कोर खराब हो जाता है और भविष्य में लोन लेने में भी काफी दिक्कत होती है | बैंक ऐसे शख्श पर तगड़ा जुर्माना भी लगाता है जिससे ग्राहक की परेशानी और बढ़ जाती है | भारतीय रिजर्व बैंक (reserve bank of india) ने जानकारी देते हुए कहा डिफ़ॉल्ट (loan default) होने के बाद बैंक ग्राहक पर जो तगड़ा जुर्माना लगाते हैं वो अब बंद होगा ओरे बैंक या NBFC कम्पनी मन मर्ज़ी से ग्राहक पर जुर्माना नहीं लगा पाएंगे | 

सिर्फ ये चार्ज लगा सकेंगे बैंक 

RBI (reserve bank of india) ने बताया है की अब बैंक या एनबीएफसी सिर्फ ‘उचित’ डिफॉल्ट चार्ज ही लगा सकेंगे। बैंकों, एनबीएफसी और आरबीआई (RBI) से विनियमित दूसरी संस्थाओं को ये संशोधित मानदंड लागू करने के लिए तीन महीने का विस्तार देते हुए अप्रैल तक का समय दिया गया था और ये समय अब खत्म हो गया है जिसकी वजह से RBI को ये बड़ा फैसला लेना पड़ा है | 

जानबूझकर डिफॉल्ट करने वालों की खैर नहीं

RBI ने ये भी बताया है की कुछ लोग ऐसे होते हैं जो जान बूझ कर लोन नहीं चुकाते , उन्हें डिफ़ॉल्ट घोषित कर देने के बाद भी वो बैंक को पैसा वापिस नहीं करते तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा | ऐसे लोगों पर कानूनी कार्यवाही भी बैंक कर सकता है