Fast Newz 24


SBI के ग्राहकों की हो गई मौज, खाते से निकाल सकते हैं पैसे

अगर आपने स्टेट बैंक में  FD करवा रखी है तो बिना तुड़वाएं खाते से पैसे निकाल सकते हैं. तो चलिए जानते हैं विस्तार से...
 
ंम

Fast News 24:  एसबीआई के जरिए अपने ग्राहकों के लिए काफी सारी सुविधाएं दी जाती है। मुश्किल समय में ग्राहकों को अपनी एफडी न तुड़वानी पड़े। इसी को देखते हुए एसबीआई ने मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम की सुविधा दी है। इसमे आप जब भी चाहें एटीएम के जरिए पैसा निकाल सकत हैं। 

वह भी बिना किसी एफडी को तुड़वाएं बिना। जानकारी के लिए बता दें MODS एक प्रकार का टर्म डिपॉजिट है जो कि सेविंग या फिर करंट खाते से लिंक्ड करना होता है। ऐसे में यदि ग्राहक उस लिंक्ड खाते से पैसा निकालना चाहते हैं और वह पैसा खाते में मौजूद नहीं है तो पैसे मोड्स से निकाले जा सकते हैं। एमओडी पर भी उतना ही ब्याज मिलता है जितना कि एसबीआई में एक आम एफडी पर मिलता है। विड्रॉल के बाद ब्याज एमओडी में बची रकम पर मिलता रहता है।

कितना कर सकते हैं निवेश एसबीआई एमओडी में आप कम से कम 10 हजार रुपये की एफडी करा सकते हैं। एफडी खाता ओपन होने के बाद आप इस स्कीम में 1 हजार रुपये के मल्टीपल्स में पैसा जमा कर सकते हैं और इस स्कीम में निवेश की कोई भी मैक्जिमम लिमिट नहीं है। एसबीआई की स्कीम की खास बातें एसबीआई एमओडी को 1 साल से लेकर 5 सालों तक की अवधि के लिए ओपन किया जा सकता है। 

इसमें प्रीमैच्योर विड्रॉल की सुविधा मिलती है। एमओडी पर लोन लेने और नॉमिनेशन की भी सुविधा मिलती है। इसे बैंक की एक शाखा से दूसरी शाखा में ट्रांसफर किया जा सकता है। एमओडी कराने वाले ग्राहकों के लिए इससे लिंक्ड सेविंग्स खाते में कम से कम मंथली एवरेड बैलेंस रखना जरुरी है। एमओडी तोड़ने की स्थिति में तोड़ी गई रकम जितने समय के खाते में रही है। 

उस अवधि पर लागू ब्याज दर पर दंड सहित ब्याज का पेमेंट किया जाएगा और बाकी तोड़े जाने की स्थिति में, तोड़ी गई रकम जितने समय खाते में रही है उस अवधि पर लागू ब्याज दर पर दंडड समेत ब्याज का पेमेंट किया जाएगा और बाकी रकम मूल ब्याज दर पर लागू होगी। यदि किसी स्पेशल खाते के लिए मार्क है तो आगे और यूनिट्स को तोड़ने की परमीशन नहीं होती है।