Fast Newz 24

SBI समेत इन बैकों की FD पर मिल रहा है तकड़ा ब्याज, होगी फुल कमाई


High FD Banks News: अगर आप भी पैसे निवेश करने की सोच रहे हैं तो इन बैंकों की एफडी पर बंपर ब्याज दिया जा रहा है.
 
्

Fast News24:  यह खबर आपके लिए है अगर आप भी अपनी या परिवार की एफडी करवाना चाहते हैं। नीचे खबर में एसबीआई सहित 13 अन्य बैंकों की ब्याज दरें देखें। जब सेविंग् स की बात होती है, तो फिक्सड डिपॉजिट, यानी FD (FD) शब्द अवश्य आता है। फिक्सड डिपॉजिट में आपका निवेश सुरक्षित है और आपको गारंटी के साथ रिटर्न मिलेगा। विभिन्न कारक और विशिष्ट एफडी टेन्योर के आधार पर, बेस्ट एफडी रेट्स देने वाले बैंक भिन्न हो सकते हैं। यदि आप भी एफडी में निवेश करना चाहते हैं तो यह एक अच्छी खबर है।

भारत में कुछ बैंक जो प्रतिस्पर्धी एफडी रेट्स की पेशकश के लिए जाने जाते हैं उनमें शामिल हैं- कोटक महिंद्रा बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक, यस बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, आरबीएल बैंक, डीसीबी बैंक. निवेशकों को यह ध्यान रखना चाहिए कि बैंक एफडी पर ब्याज दरों को बदल सकते हैं। ऐसे में, निवेश से पहले FD दरों का पता लगाना चाहिए।

13 बैंकों की बेस्ट FD रेट्स-
आरबीएल बैंक- 8.10 फीसदी (18 महीने से 24 महीने)

डीसीबी बैंक- 8 फीसदी (25 महीने से 26 महीने)

इंडसइंड बैंक- 7.75 (1 साल से 1 साल 6 महीने से कम, 1 साल 6 महीने से 1 साल 7 महीने से कम, 1 साल 7 महीने से 2 साल तक)

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक- 7.75 फीसदी (549 दिन- 2 साल)


यस बैंक- 7.75 फीसदी (18 महीने < 24 महीने)

पंजाब एंड सिंध बैंक- 7.40 फीसदी (444 दिन)

कोटक महिंद्रा बैंक- 7.40 फीसदी (390 दिन से 23 महीने से कम)

पंजाब नेशनल बैंक- 7.25 फीसदी (400 दिन)

बैंक ऑफ बड़ौदा- 7.25 फीसदी (2 साल से ज्यादा और 3 साल तक)

एचडीएफसी बैंक- 7.25 फीसदी (18 महीने से < 21 महीने)

आईसीआईसीआई बैंक- 7.20 फीसदी (15 महीने से < 18 महीने)

आईसीआईसीआई बैंक- 7.20 फीसदी (18 महीने से 2 साल)

एक्सिस बैंक- 7.20 फीसदी (17 महीने < 18 महीने)

एसबीआई- 7 फीसदी (2 साल से 3 साल से कम)

बैंक डिपॉजिट्स पर मिलता है 5 लाख रुपये तक इंश्‍योरेंस कवर-

यदि आप बैंक ग्राहक हैं तो आपको पता होना चाहिए कि आपके बैंक डिपॉजिट पर 5 लाख रुपये तक का इंश् योरेंस मिलता है अगर बैंक डिफॉल्ट करता है या डूब जाता है। देश के बैंकों का इंश्योरेंस भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्ण स्वामित्व वाली कंपनी डीआईसीजीसी (DICGC) करता है।