Fast Newz 24

हरियाणा के इस शहर में 17 साल बाद बनाए जाएगे 2 नए सेक्टर, जिसमे लागत होगी 150 करोड़ रूपए और मिलेगी सभी सुविधा, जानें...

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ग्रेटर फरीदाबाद में दो नए सेक्टर विकसित करेगा। सेक्टर 75 और 80 में सीवर, सड़क, पानी, बिजली और बारिश के पानी की निकासी के लिए ड्रेनेज लाइन जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।
 
हरियाणा के इस शहर में 17 साल बाद बनाए जाएगे 2 नए सेक्टर, जिसमे लागत होगी 150 करोड़ रूपए और मिलेगी सभी सुविधा, जानें...

Haryana Update: इसके बाद लोग यहां अपना घर बना सकेंगे. प्राधिकरण ने टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। दोनों सेक्टरों के विकास पर करीब 150 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे. दोनों सेक्टरों का विकास करीब 17 साल बाद हो रहा है।

Auto सेक्टर के लिए अच्छी खबर, घरेलू वाहनो की बिक्री बढ्ने का अनुमान

 

सेक्टरों के विकास पर 150 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे

एचएसवीपी की तरफ सेक्टर 75 और 80 के बाहर मास्टर रोड पहले ही बन चुकी थी। अब आंतरिक सड़कें, सीवर और पानी की लाइनें, वर्षा जल निकासी और बिजली प्रदान की जाएगी। इन पर करीब 58 करोड़ रुपये खर्च होंगे. सड़क निर्माण पर करीब 42 करोड़ रुपये और बिजली संबंधी कार्यों पर 16 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे. सेक्टर 75 में सड़क, सीवरेज, पानी समेत अन्य कार्यों पर करीब 16 करोड़ रुपये खर्च होंगे। सेक्टर-80 में इस काम पर करीब 26 करोड़ रुपये की लागत आएगी। प्रस्ताव को सरकार ने मंजूरी दे दी है. टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।


17 साल बाद दोनों सेक्टर विकसित होंगे

एचएसवीपी ने 2006 में ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर 75 और 80 में जमीन का अधिग्रहण किया था। मुआवजे को लेकर शुरू हुए विवाद के कारण इन क्षेत्रों का विकास नहीं हो सका। अब मामला सुलझ गया है और ई-नीलामी के जरिए लोगों को प्लॉट दिए जा रहे हैं। इसलिए अब यहां बुनियादी सुविधाएं विकसित की जाएंगी। दोनों सेक्टरों के लिए करीब 700 एकड़ जमीन अधिग्रहीत की गई थी। 100 वर्ग गज से लेकर 500 वर्ग गज तक के प्लॉट बेचे जा रहे हैं. बुनियादी सुविधाएं विकसित होने के बाद लोग यहां अपना आशियाना बनाना शुरू कर देंगे।


ग्रेटर फरीदाबाद में छोटी-बड़ी करीब 80 सोसायटी हैं। इनमें लाखों लोग रहते हैं. यहां प्राइवेट बिल्डर्स की हाईराइज सोसायटियां बनाई जा रही हैं। लेकिन, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के सेक्टरों में विकास कार्य वर्षों से रुके हुए थे। अब तक, केवल तीन क्षेत्रों ने बुनियादी ढांचे का विकास शुरू किया है। इनमें सेक्टर 76, 77 और 78 शामिल हैं। इन सेक्टरों के अंदरूनी इलाकों में सड़कों का निर्माण किया जा रहा है, सीवरेज और पानी की लाइनें बिछाई जा रही हैं, बरसाती पानी की नालियां बनाई जा रही हैं और बिजली उपलब्ध कराई जा रही है।
 

ज्यादातर हिस्सों में काम हो चुका है और बाकी हिस्सों में काम जारी है. सेक्टर 77 और 78 में ड्रॉ के जरिए लोगों को प्लॉट दिए गए और सेक्टर 76 में ई-ऑक्शन के जरिए लोगों को प्लॉट बेचे गए हैं। एचएसवीपी ने ई-नीलामी के माध्यम से सेक्टर 75 और 80 में कई लोगों को प्लॉट भी बेचे हैं, लेकिन सुविधाओं की कमी के कारण कब्जा नहीं दिया है, जबकि लोगों को प्लॉट पर कब्जा देने से पहले यहां बुनियादी सुविधाएं विकसित की जानी चाहिए। अब जल्द ही दोनों सेक्टरों में सभी बुनियादी सुविधाएं विकसित करने की योजना है।


पहले सड़कें बनेंगी, फिर बिजली का काम

प्राधिकरण के बिजली विभाग के कार्यकारी अभियंता अश्वनी गौड़ ने बताया कि दोनों सेक्टरों की सड़कें पूरी होने के बाद बिजली पहुंचाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। सेक्टर 75 में बिजली संबंधी कार्यों पर करीब 99.6 करोड़ रुपये और सेक्टर में 6.5 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस पैसे का इस्तेमाल बिजली के खंभे, लाइन, ट्रांसफार्मर और स्ट्रीट लाइट लगाने में किया जाएगा।

Adani ने किया बड़ा ऐलान, 100 Billion Dollars निवेश करके इस सेक्टर का करने जा रहे कायापलट

Tags: "NCR ,ncr news,delhi news,dellhi news in hindi,big update,faridabad news,haryana news,dellhi news in hindi ,breaking news, manohar lal khattar, dearness allowance, mughal harem, haryana staff selection commission, sarpanch, expressways of india, national capital region, dakshin haryana bijli vitran nigam ltd., india meteorological department, national highway 152d, haryana roadways, desi mms, sapna choudhary, panipat, chief minister, bureaucracy, सपना चौधरी, 7th central pay commission, tina dabi, haryana news