Fast Newz 24

भारत देश में सबसे बड़ा Airport बनेगा, 25000 हजार एकड़ जमीन पर अधिग्रहण का काम हुआ शुरू

मध्य प्रदेश अपने विकास पथ पर आगे बढ़ते हुए भारत का सबसे बड़ा हवाई अड्डा बनाने की योजना बना रहा है। अगर सब कुछ योजना के मुताबिक रहा तो यह विशाल बेस इंदौर के पास बनाया जाएगा, जो क्षेत्रफल की दृष्टि से भोपाल और इंदौर के बीच स्थित होगा।
 
भारत देश में सबसे बड़ा Airport बनेगा, 25000 हजार एकड़ जमीन पर अधिग्रहण का काम हुआ शुरू

Haryana Update: देवास-सोनकच्छ और छपारा के बीच एयरपोर्ट के लिए जमीन तय हो गई है और उद्योग विभाग ने इसके लिए करीब 25 हजार एकड़ जमीन मांगी है.

Kabul Airport Blast: काबुल मे सैनिक हवाई अड्डे पर जोरदार धमाका, कई लोगों के मरने की आशंका


यह जमीन भोपाल-इंदौर रोड, भोपाल-जयपुर रोड, शाजापुर-देवास रोड और नरसिंहगढ़ को जोड़ेगी, जिससे लोगों को इस एयरपोर्ट तक आसानी से पहुंचने में कोई दिक्कत नहीं होगी.

भोपाल, इंदौर और आसपास के इलाकों को बड़ी सुविधा मिलेगी

 

उद्योग विभाग के अनुसार, मध्य प्रदेश के 40 प्रतिशत उद्योग इंदौर, देवास और पीथमपुर में स्थित हैं, जिनका स्वामित्व डीएमआईसी के पास है। इसलिए सरकार ने इन क्षेत्रों को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करने का निर्णय लिया है।


इस विकास के माध्यम से यह हवाई अड्डा उद्योगों तक आसानी से पहुंच सकेगा। इन क्षेत्रों के आसपास लॉजिस्टिक हब भी बनाए जाएंगे और जमीन पर नए उद्योग स्थापित किए जा सकेंगे, जिससे राज्य की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा।

बेस के निर्माण में मौसम का अहम योगदान

 

किसी विशाल हवाई अड्डे के निर्माण में मौसम की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण पूरे वर्ष इंदौर, देवास और सोनकच्छ में मौसम की स्थिति पर नज़र रखता है।


तूफान, बारिश और अन्य आपदाओं के दौरान यह जांचना जरूरी है कि विमान इस मौसम के अनुसार कैसा व्यवहार करेंगे। इससे हवाई यातायात में सुरक्षा बनाए रखने में मदद मिलती है और किसी भी आपदा की स्थिति में यात्रियों को परेशानी से भी बचाया जा सकता है।

सरकार की नई योजना पर आगे बढ़ रहे हैं


विकास की राह पर आगे बढ़ते हुए मध्य प्रदेश उद्योग विकास निगम लिमिटेड ने इस हवाई अड्डे के निर्माण के लिए एक विशेष टीम को काम पर लगाया है। इस टीम के सदस्य हवाई अड्डे के यातायात और कार्गो के लिए सुविधाएं सुनिश्चित करेंगे, जो इस विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं।

यह आधार न केवल यात्रियों के लिए बल्कि उद्योगों के लिए भी एक महत्वपूर्ण साधन होगा, जो राज्य के आर्थिक विकास में एक बड़ा कदम होगा।

इंदौर के निकट भारत के सबसे बड़े हवाई अड्डे का निर्माण राज्य के विकास पथ पर एक बड़ा कदम है। इससे उद्योगों को विकास करने में मदद मिलेगी और यात्रियों को सुविधाएं बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।

हवाई यातायात को भी सुरक्षित रखा जा सकता है क्योंकि बेस को मौसम की स्थिति को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। प्रोजेक्ट को सरकार की मंजूरी मिलने से निर्माण की प्रक्रिया शुरू होगी और राज्य का विकास नई ऊंचाई पर पहुंचेगा.

भारत के गरीब लोग हो जाएगे अमीर, इस देश में 1 रुपया है इतने के बराबर

Tags: "Worlds Largest Airport Saudi Arabia, दुनिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट कहां है, सऊदी अरब में विश्व का सबसे बड़ा एयरपोर्ट, सऊदी में किंग फाहद इंटरनेशनल एयरपोर्ट, visva ka sabse largest airport, Largest Airport in india, MP,एयरपोर्ट,जमीन अधिग्रहण,Airport,land acquisition, जेवर एयरपोर्ट नहीं अब इस शहर में बनेगा देश का सबसे बड़ा Airport: 25000 एकड़ जमीन अधिग्रहण का काम शुरू, बनेगा देश का सबसे बड़ा Airport,भारत का सबसे बड़ा हवाई अड्डा,सबसे बड़ा हवाई अड्डा, airport,haryana news