Fast Newz 24

आखिर ट्रेन के लास्ट डब्बे पर क्यों लिखा होता है X का निशान

आप रेलवे स्टेशन पर तो गए होंगे लेकिन क्या आपने कभी देखा है रेल के आखिरी डब्बे पर X का निशान क्यों होता है। आइए जानते हैं इसका मतलब।
 
 आखिर ट्रेन के लास्ट डब्बे पर क्यों लिखा होता है X का निशान

 Haryana Update: रेलवे ने ट्वीट किया है, "भारतीय रेलवे का X फैक्टर, क्या आप डिब्बे के पीछे इस साइन का मतलब जानते हैं." दरसअल, आमतौर पर ट्रेन से यात्रा करने वाले लोग इस साइन को देखते तो हैं लेकिन उन्हें भी इसका मतलब नहीं पता होता है. 

ये है दुनिया की सबसे छोटी Hanuman Chalisa, पढ़ने के लिए चाहिए 10X मैग्नीफाइंग लेंस


इसका कई लोगों ने जवाब भी देने का प्रयास किया है. कुछ लोग असफल रहे हैं तो कुछ ने एकदम सही जवाब दिया है. तो क्या आपने जानते हैं कि ट्रेन के डिब्बे के पीछे बने इस X का क्या मतलब होता है. अगर नहीं, तो हम आपको बताते हैं.


x का निशान आपको हर डिब्बे के पीछे देखने को नहीं मिलता है. इसे सिर्फ ट्रेन के आखिरी डिब्बे के पीछे ही लगाया जाता है. ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि स्टेशन मास्टर या अगले स्टेशन पर हरी झंडी दिखाने वाले रेलवे कर्मचारी को पता चल जाए कि ट्रेन का आखिरी डिब्बा निकल चुका है. 


वह इसी तरीके से सुनिश्चित करते हैं कि ट्रेन से कोई डिब्बा अलग नहीं हुआ है. अगर उन्हें X मार्क वाला डिब्बा ट्रेन के पीछे नहीं दिखता तो वो इसकी जानकारी तुरंत लोको पायलट या अगले स्टेशन तक पहुंचाते हैं.


जब तक पीछे छूटा डिब्बा वापस से लाकर ट्रेन के साथ नहीं लगा दिया जाता, तब तक ट्रेन को आगे नहीं बढ़ाया जाता है. हालांकि, ऐसा बहुत कम ही होता है लेकिन फिर भी कुछेक एक बार ऐसी घटनाएं सुनने को मिलती हैं और तब यह X बहुत काम आता है. 

Elon Musk का ड्रीम प्रोजेक्ट ध्वस्त, टेस्टिंग के दौरान दुनिया का सबसे बड़ा रॉकेट SpaceX Starship फटा

Tags: Indian Railways News ,Railways News,Indian Railways,Railways ,X का निशान ,indian railway ,meaning of x behind train,why x written on back of train,indian railway knowledge,railway facts"description" content="You do not get to see the X mark behind every box. It is installed only behind the last compartment of the train. This is done so that the station master or the railway employee who shows the green signal at the next station knows that the last coach of the train has left haryana news